Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
08-04-2018, 01:00 PM,
#1
Lightbulb  Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
निशा अपने पापा की गोद में बैठ तो गयी | मगर उसके चूतडों में दलीप का लंड बुरी तरह से चुभ रहा था इसलिए वो बार बार वहां से उठने की कोशिश कर रही थी |
"क्या हुआ बेटी बार बार क्यों उठ रही हो" दलीप ने अपनी बेटी को कमर से पकडे हुए ही कहा , “कुछ नहीं पापा बस ऐसे ही" निशा अपने पापा का सवाल सुनकर शर्म से पानी पानी होते हुए बोली ...... और मजबूरन वो अब बिना हिले अपने पिता की गोद में बैठी रही | 
निशा को महसूस हो रहा था कि उसके पापा का लंड उसके चुप होकर बैठने के बाद बुरी तरह से उसके चूतडों के बीच घुसकर चुभ रहा था | निशा को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे, "बेटी तुम्हें पता है बचपन में तुम मेरी गोद में बैठकर ही खाना खाती थी“ दलीप ने निशा के चुप होकर बैठने के बाद अपने हाथ को उसकी कमर से लेजाकर उसके चिकने पेट पर रखते हुए कहा ........!

अगर आपको यह कहानी पसंद आये तो कमेंट जरुर दीजिएगा ...........



Pro MemberPosts: Joined: 21 Mar 2017 22:18Contact: 




 by  » 05 Apr 2017 13:45
निशा ने अपने पापा की बात का कोई जवाब नहीं दिया और चुप चाप वहीँ पर बैठी रही | अचानक दलीप ने अपना मुंह निशा की पीठ पर रख दिया और वो अपने हाथ को अपनी बेटी के जवान चिकने पेट पर फेरने लगा | अपने पिता के हाथ को अपने पेट और उसके मुंह को अपनी पीठ पर महसूस करके निशा की सांसें बहुत जोर से चलने लगी और उसे अपने पूरे जिस्म में अजीब किस्म की सिहरन का एहसास होने लगा |

निशा भी अब गरम होने लगी थी और उसे अपने पिता की हरकतों से मज़ा आ रहा था | निशा इतना गर्म हो गई थी कि अब वो खुद अपने चूतडों को जोर लगा कर अपने पिता के लंड पर दबा कर हिला रही थी , “बेटी तुमने तो आज मुझे तेरे बचपन की याद दिला दी , तू बता तुम्हें केसा महसूस हो रहा है ?” दलीप ने अपनी बेटी के चूतडों के हिलने से खुश होते हुए उससे सवाल किया |
"पापा मुझे अच्छा लग रहा है " निशा ने सिर्फ इतना कहा | निशा की बात सुनकर दलीप को जैसे ग्रीन सिग्नल मिल गया | इसीलिए दलीप ने अब अपने हाथ को अपनी बेटी के चिकने पेट से फिसलाते हुए ऊपर उसकी चुचियों के करीब ले जाने लगा | अपने पापा के हाथ को अपनी चुचियों की तरफ जाते हुए देखकर निशा की सांसें बहुत जोर से चलने लगी और उसका दिल अगले पल के बारे में सोचकर बहुत जोर से धडकने लागा |
दलीप का हाथ उसकी बेटी की चुचियों के बिलकुल नज़दीक पहुंच चूका था और वो अपने हाथ को बिना रोके ऊपर करता जा रहा था | निशा महसूस कर रही थी कि उसके पिता का हाथ जैसे जैसे उसकी चुचियों के करीब हो रहा था वैसे वैसे उसका लंड जोर के झटके खा रहा था और उसकी सांसें तेज़ होती जा रही थी |
"नहीं पापा बस" अचानक निशा को जाने क्या हुआ |उसने अपने हाथ को अपने पापा के हाथ पर रख दिया और उसके हाथ को अपनी चुचियों के पास ही रोक दिया , "अरे सॉरी बेटी मैं तो भूल ही गया कि हमारी बेटी जवान हो चुकी है , लगता है अब तुम्हारे लिए जल्दी ही कोई दूल्हा ढूँढना पड़ेगा” दलीप ने निशा के हाथ को अपने हाथ पर पड़ते ही कहा |
“पापा अब मैं जाऊं?" निशा ने तेज़ सांसें लेते हुए पूछा | “बेटी बस एक बार मुझे तुम एक किस दे दो ,जैसे बचपन में टॉफ़ी लेने के बाद देती थी”, दलीप ने अपनी बेटी के पेट से अपने हाथ को हटाते हुए कहा | 

“पापा मुझसे नहीं होगा , मुझे शर्म आ रही है", निशा ने जल्दी से अपने पिता की गोद से उठकर उसके करीब ही सोफे पर बैठते हुए कहा |

निशा की हालत बहुत खराब हो चुकी थी | उसकी चूत से उतेजना के मारे पानी टपक रहा था |

"बेटी अपने पिता से कैसी शर्म ? ठीक है अगर तुम शर्मा रही हो , तो मैं ही तुम्हें किस कर देता हूँ" दलीप ने निशा की बात सुन कर खुश होते हुए कहा |

अपने पिता की बात सुनकर निशा की हालत और ज्यादा खराब होने लगी क्योंकि अब दलीप खुद उसे किस करने वाला था |
-  - 
Reply

08-04-2018, 01:01 PM,
#2
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
“बेटी ऐसा करो तुम अपना सर मेरी गोद में रखकर अपनी आँखें बंद कर लो , मैं खुद ही अपनी फूल जैसी बेटी का किस लूँगा” , दलीप ने निशा के हाथ को पकड़कर उसे अपने पास खींचते हुए कहा | निशा को तो कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे , बस उसे चुपचाप अपने पिता की बात को मानना था | इसीलिए वो चुपचाप अपने पिता की गोद में सर रखकर लेट गयी |
“ओह्ह्ह्हह्ह मेरी स्वीटी तुम कितनी अच्छी हो” , दलीप ने अपनी बेटी के सर को अपनी गोद में महसूस करते ही खुश होते हुए कहा और अपने हाथ से निशा के एक गाल की चिकोटी ले ली | दलीप अब थोडा झुककर अपनी बेटी को किस करने के लिए निचे झुकने लगा | निशा ने जैसे ही देखा कि उसका बाप उसे किस करने के लिए निचे हो रहा है | उसने अपनी आँखों को बंद कर लिया |
उत्तेजना के मारे निशा की साँसें अब भी बहुत जोर से चल रही थी | दलीप नीचे झुकते हुए अपनी बेटी की चुचियों को बहुत गौर से देख रहा था क्योंकि निशा की बड़ी बड़ी चूचियां बहुत जोर से ऊपर निचे हो रही थी | दलीप ने एक नज़र अपनी बेटी के गुलाबी लबों पर डाली और अपने होंठों को उसके गाल पर रख दिया |
निशा को जैसे ही अपने पिता के होंठ अपने गाल पर महसूस हुए उसकी चूत से उत्तेजना के मारे बहुत ज्यादा पानी निकलने लगा | दलीप अपने होंठों को वैसे ही अपनी बेटी के गालों पर रखे हुए उसके होंठों को घूर रहा था | दलीप का दिल कर रहा था कि अभी अपनी बेटी के होंठों को अपने मुंह में लेकर जी भरकर चूसे मगर वो ऐसा नहीं कर सकता था |
“आहाहा पापा अब हटो ना” निशा ने सिसकते हुए कहा |
“बेटी इतने सालों बाद तुम्हें किस किया है कि अब तुमसे दूर हटने का मन ही नहीं कर रहा” दलीप ने अपनी बेटी के गालों पर वैसे ही अपना मूह रखे हुए उसकी साँसों को अपने होंठों से टकराते हुए महसूस करके कहा | दलीप ब अपने होंठों को अपनी बेटी के गालों पर रगड़ते हुए उसके होंठों के करीब ले जाने लगा |
“आहाहाहा पापा बस करिए ना क्या कर रहे हैं” निशा की आँखें बंद थी , मगर वो अपने पिता के लबों के हिलने से समझ चुकी थी कि उसका पिता अपने लबों को उसके होंठों के करीब ला रहा है | 
“बेटी थोडी देर चुप रहो और मुझे अपनी गुडिया से खेलने दो” दलीप ने अपनी बेटी के होंठों के बिलकुल करीब पहुँचते हुए कहा |
निशा ने अपने पापा की सांसों को अपने मूह के इतना करीब महसूस करके अपनी आखों को खोल दिया | निशा ने जैसे ही अपनी आँखों को खोला उसके सामने अपने पिता का चेहरा आ गया, दलीप ने जैसे ही देखा कि उसकी बेटी ने अपनी आँखें खोल दी हैं , उसने जल्दी से अपने होंठों को अपनी बेटी के गुलाबी होंठों पर रख दिया |
निशा का पूरा जिस्म वैसे ही बहुत ज्यादा गरम हो चूका था जैसे ही उसने अपने होंठों पर अपने पिता के होंठों को महसूस किया वो अपने होश खो बैठी और उसकी चूत से पानी की नदियाँ बहने लगी | निशा को उस वक़्त खुद समझ में नहीं आ रहा था कि आज उसके साथ क्या हो रहा है | निशा ने मज़े से अपने पिता के बालों को जोर से पकड लिया और अपने होंठों को जोर से अपने पिता के मूह में दबाने लगी |
निशा में आये अचानक इस बदलाव को देखकर दलीप भी हैरान हो गया और वो अपनी बेटी के होंठों को बुरी तरह से चूसने लगा | निशा को तो कोई होश ही नहीं था | जैसे ही वो मज़े की दुनिया से निकली तो उसे अहसास हुआ कि उसने क्या कर दिया है | निशा ने जल्दी से अपने पिता के बालों में से अपने हाथों को हटाकर उसे धक्का देते हुए अपने आप से दूर कर दिया और भागते हुए वहां से निकलकर अपने कमरे में आ गई |
निशा बाथरूम में घुस गयी निशा ने जल्दी से अपने कपडे उतारे और शावर के निचे आकर ठन्डे पानी से अपने जिस्म को शांत करने लगी मगर अपने गरम जिस्म पर ठंडा पानी पड़ते ही उसका जिस्म ठंडा होने की बजाय ज्यादा गर्म होने लगा |
निशा का जिस्म अब भी अपने पिता के साथ होने वाले सीन को सोचकर गर्म हो रहा था उसे खुद समझ में नहीं आ रहा था कि आज उसे क्या हो गया है | वो एक बार झडकर भी इतनी गर्म क्यों है | निशा को अचानक एक आईडिया आया और वो बाथरूम में निचे बैठकर ऊँगली को अपनी चूत में डालकर अन्दर बाहर करने लगी , निशा अपनी ऊँगली को तेज़ी के साथ अपनी चूत में अन्दर बाहर करते हुए अपने पापा के साथ होने वाली किस को याद कर रही थी , 5 मिनट में ही निशा का जिस्म झटके खाते हुए झडने लगा | 

निशा को झडने के बाद कुछ सुकून महसूस होने लगा और वो अपने जिस्म को शावर के निचे ले जाकर ठंडा करने लगी | निशा 20 मिनट तक अपने जिस्म पर ठंडा पानी गिराती रही तब जाकर उसका जिस्म पूरी तरह ठंडा हुआ और वो अपने कपडे पहनकर बाथरूम से बाहर निकल आई | उसने कुछ फैसला कर लिया था |
निशा का दिल बहुत जोर से धडक रहा था | निशा का यह सोचकर ही हाल बुरा हो रहा था कि अगले पल क्या होने वाला है | यह सोचते हुए निशा का पूरा जिस्म तप कर गर्म हो चूका था और वो अपने पापा के कमरे तक पहुच गई और दरवाज़ा खोल कर अंदर चली गयी |
-  - 
Reply
08-04-2018, 01:01 PM,
#3
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
निशा का दिल बहुत जोर से धडक रहा था | निशा का यह सोचकर ही बुरा हाल हो रहा था कि अगले पल क्या होने वाला है | यह सोचते हुए निशा का पूरा जिस्म तप कर गर्म हो चूका था और वो अपने पापा के कमरे तक पहुच गई और दरवाज़ा खोल कर अंदर चली गयी |
दलीप ने अपनी बेटी को देखा और जा कर दरवाज़ा अंदर से बंद कर दिया और वापिस अपनी बेटी के पास आकर उसके हाथ को पकड़ कर उसे अपने बेड की तरफ ले जाने लगा |
निशा का उत्तेजना के मारे बुरा हाल था | उसकी चूत से इतना ज्यादा पानी निकल रहा था कि उसकी पूरी पैंटी गीली हो चुकी थी | दलीप ने अपनी बेटी को अपने बेड तक ले जाकर बैठा दिया और खुद भी उसके साथ बेड पर बैठ गया | 
“बेटी तुम वापिस क्यों चली आई” दलीप ने बेड पर बैठते ही अपनी बेटी की तरफ देखते हुए कहा | निशा ने अपने पापा की बात सुनकर अपना कन्धा निचे कर दिया और कुछ नहीं बोली क्योंकि उसे बहुत ज्यादा शर्म आ रही थी |
“बताओ ना बेटी”, दलीप ने अपने हाथों से अपनी बेटी के सर को पकड कर ऊपर करते हुए कहा |
“ पिता जी हमें बहुत शर्म आ रही है” निशा ने अपने पिता को देखते हुए कहा |
“अच्छा छोडो बस यह बताओ कि क्या तुम भी मेरी तरह यह सब करना चाहती हो”, दलीप ने निशा के हाथ को पकड कर चूमते हुए कहा |

“पिता जी मुझे कुछ नहीं पता, मगर आपको देखकर मुझे भी कुछ होने लगा है” निशा ने अपना कन्धा फिर से निचे करते हुए कहा | 
“ओह्ह्ह्ह बेटी इसका मतलब तुम्हारा दिल भी अपने पिता के साथ यह सब करने को करता है”, दलीप ने निशा की बात सुनकर खुश होते हुए कहा और अपनी बेटी का हाथ पकड कर अपनी पेंट के ऊपर सीधा अपने खड़े लंड पर रख दिया |
निशा का पूरा जिस्म अपना हाथ अपने पिता की पेंट पर पड़ते ही सिहर उठा क्योंकि दलीप का लंड पूरी तरह से तना हुआ था जो निशा को अपना हाथ वहां पर रखते ही महसूस हुआ |
“पापा एक बात कहूँ?” निशा ने दलीप की तरफ देखते हुए कहा |
“हाँ बेटी बताओ क्या बात है” दलीप ने खुश होते हुए कहा |
“पिता जी मुझे इतनी शर्म आ रही है कि मैं आपका साथ नहीं दे पाऊँगी, अगर आप अपनी आँखें बंद करके मेरे साथ यह सब करें तो मुझे शर्म नहीं आएगी और मैं आपका साथ भी दूँगी” निशा ने अपना कन्धा निचे करते हुए कहा |
“ठीक है बेटी मैं अपनी आखें बंद कर लेता हूँ , मगर फिर सब कुछ तुम्हें ही करना होगा”, दलीप ने अपनी बेटी की तरफ देखते हुए कहा |
“ठीक है पापा मगर ऐसे नहीं एक मिनट” निशा ने बेड से उठकर अलमारी से अपनी माँ का एक दुप्पटा उठा लिया और अपने पिता के पास आते हुए उसे उसकी आखों पे कस के बाँध दिया |
“अरे बेटी तुमने तो सच में अँधा बना दिया” दलीप ने अपनी आखों पर पट्टी बंधने के बाद कहा |
“पापा अभी तो आपकी बाहों को भी बांधना है”, निशा ने अपनी साड़ी को अपने जिस्म से अलग करते हुए कहा |
“बेटी यह ठीक नहीं है , फिर तो मैं तुम्हें छू भी नहीं सकता,” दलीप ने निशा की बात सुनकर परेशान होते हुए कहा |
“पापा आप चिंता मत करें, मैं आप को किसी शिकायत का मौका नहीं दूँगी”, निशा ने कहा और उसकी शर्ट को उसके जिस्म से अलग करते हुए उसको सीधा बेड पर लिटाते हुए उसके दोनों बाजुओं को ऊपर करके बाँध दिया |
निशा ने अपने पापा को बांधने के बाद बेड से उतरते हुए अपने पूरे कपड़ो को अपने जिस्म से अलग कर दिया और बिलकुल नंगी हो गई |
-  - 
Reply
08-04-2018, 01:01 PM,
#4
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
“अरे बेटा मुझे बांधकर कहाँ चली गयी तुम?” दलीप ने चिल्लाते हुए कहा | निशा अपने पापा के पास जाते हुए उसकी पेंट को खोलने लगी और पेंट को अपने बाप के जिस्म से अलग करते हुए दूर फेंक दिया | निशा का जिस्म यह देखकर और ज्यादा गर्म होने लगा कि उसके बाप का लंड पेंट के हटते ही उसके अंडरवियर में बड़ा तम्बू बनकर झटके खाने लगा था |
निशा कुछ देर तक अपने पापा के लंड को ऐसे ही अंडरवियर के अंदर झटके खाते हुए देखती रही और फिर वो थोडा ऊपर होते हुए अपने पापा के बालों पर अपना नरम हाथ फिराने लगी |
“आहाह्हा बेटी कितना तडपाओगी, आओ ना अपने पापा के सीने से लग जाओ” , दलीप ने अपनी बेटी का नरम हाथ अपने सीने पर महसूस होते ही जोर से सिसकते हुए कहा |
निशा का भी उत्तेजना के मारे बुरा हाल था | वो कुछ देर तक अपने हाथों को अपने पिता के सीने पर फिराने के बाद अपने होंठों को उसके सीने पर रख दिया और पागलों की तरह अपने पापा के पूरे सीने को चूमने लगी | 
“आह्ह्ह्ह बेटी ओह्ह्ह” दलीप अपनी बेटी के होंठों से अपने सीने को चूमने से सिर्फ जोर से सिस्क रहा था |
निशा अब अपनी दोनों टांगों को फेलाकर अपने पिता के ऊपर आ गई और अपनी बड़ी बड़ी चुचियों को अपने पापा के सीने पर रगड़ने लगी | निशा ऐसा करते हुए बहुत जोर से सिसक रही थी और अपने चूतडों को बहुत जोर से अपने पापा के लंड पर उसके अंडरवियर के ऊपर से रगड़ रही थी |
“ओह्ह्ह्ह बेटी खुद भी ऐसे तड़प रही हो और मुझे भी तडपा रही हो, मेरी बाहों को खोल दो, फिर देखो मैं तुम्हें कितना प्यार देता हूँ”, दलीप ने सिसकते हुए अपनी बेटी से कहा |
“आहाहह पापा चुप करो और अपनी बेटी की चुचियों का रस चखो”, निशा ने थोडा ऊपर हो कर अपनी एक चूची को अपने पिता के होंठों पर रखते हुए कहा |
दलीप ने अपनी बेटी की चूची को अपने होंठों पर महसूस करते ही अपना मूह खोल कर निशा की चूची को जितना हो सकता था अपने मूह में भर लिया और उसे बहुत जोर से चूसने लगा |
“आअहाहहह पापा अपनी बेटी की चूची के रस को पूरी तरह चाट लो , ओह्ह्ह्ह... और बताओ कि आपकी बेटी की चुचियों में ज्यादा रस है या माँ की चुचियों में”, निशा ने अपनी चूची को अपने पिता के मूह में जाते ही उत्तेजना के मारे जोर से सिसकते हुए कहा |


दलीप अपनी बेटी की बातों को सुनकर पागल हो रहा था और उत्तेजना के मारे बहुत जोर से निशा की चूची को चूसते हुए अपने दांतों से भी हल्का काट रहा था | 
“ओह्ह्ह्हह पापा क्या अपनी बेटी की चुचियों को खा जाने का इरादा है क्या?” , निशा ने अपनी चुचियों पर अपने पिता के दांतों के लगते ही जोर से चिल्लाते हुए अपनी चूची को उसके मूह से निकालते हुए कहा |
“आहाह्हहह.... बेटी, क्यों निकाला सच में तुम्हारी चुचियों का रस तुम्हारी माँ से कहीं ज्यादा अच्छा है” , दलीप ने अपनी बेटी की चूची अपने मूह से निकलते ही जोर से चिल्लाते हुए कहा |
“ओह्ह्ह्हह्ह, पापा लो अब मेरी दूसरी चूची का रस चखो”, निशा ने अब अपनी दूसरी चूची को अपने पिता के होंठों पर रखते हुए कहा |
दलीप अपनी बेटी की दूसरी चूची को भी वैसे ही चूसने लगा | जैसे उसकी पहली चूची को चूसा था और निशा अभी मज़े से अपने हाथों से अपने पिता के बालों को सहलाने लगी | कुछ ही देर बाद निशा ने अपनी चूची को फिर से अपने पिता के मूह से निकाल दिया और बहुत जोर से हांफने लगी |
“आआह्हा बेटी क्या हुआ”? दलीप ने अचानक अपने मूह से निशा की चूची के निकलते ही सिसकते हुए कहा |
निशा ने इस बार अपने तपते होंठों को अपने पिता के होंठों पर रख दिया और बहुत जोर से हांफते हुए अपने पिता के होंठों को चूमने लगी | ऐसा करते हुए निशा की चुचियां सीधा उसके पिता के सीने में दब गयी | दलीप ने जैसे ही महसूस किया कि उसकी बेटी उसके होंठों को चूम रही है तो उसने अपना मूह खोलकर निशा के दोनों होंठों को अपने मूह में भर लिया और उन्हें बहुत जोर से चूसने लगा |
निशा को अपने पिता के साथ किस्सिंग करते हुए अपने पूरे जिस्म में मज़े का एक नया एहसास हो रहा था | दलीप ने अचानक अपनी बेटी के होंठों को खोलते हुए उसकी जीभ को पकड़कर अपने मूह में भर लिया और अपनी बेटी की शहद से ज्यादा मीठी जीभ को जोर से चूसने लगा | दलीप की इस हरकत से निशा का पूरा जिस्म कांपने लगा और वो उत्तेजना में आकर अपने पिता की जीभ को पकड़कर चाटने लगी | दोनों बाप बेटी कुछ देर तक ऐसे ही एक दुसरे के होंठों और जीभ से खेलने के बाद हांफते हुए एक दुसरे से अलग हो गए |
-  - 
Reply
08-04-2018, 01:01 PM,
#5
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
निशा और दलीप की सांसें एक दुसरे से अलग होते ही बहुत जोर से चलने लगी | वो दोनों बुरी तरह से हांफ रहे थे |
“पापा कैसे लगा आपको अपनी बेटी के होंठों और जीभ का स्वाद?” निशा ने कुछ देर तक हांफने के बाद अपने पापा से पूछा |
“बेटी अब मैं क्या बताऊँ?” शहद से भी मीठी तो तुम्हारी जीभ थी”, दलीप ने अपनी बेटी को जवाब देते हुए कहा |
“पिता जी अभी तो शुरआत है” , निशा ने इतना कहा और अपनी ऊँगली को अपने पापा के मुंह पर रख दिया |
दलीप ने अपनी बेटी की ऊँगली को अपने होंठों पर महसूस करते ही अपना मुंह खोल दिया और निशा की ऊँगली को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा |
“पापा एक मिनट मैं अपनी ऊँगली पर कोई टेस्टी चीज़ लगाती हूँ”, निशा ने अपनी ऊँगली को अपने पिता के मुंह से निकालकर अपनी चूत के ऊपर रखते हुए उसमें डाल दिया और उसे पूरी तरह से अपनी चूत के पानी से गीला करते हुए बाहर निकाल लिया |
“बेटी तुम्हारी ऊँगली तो वैसे ही टेस्टी थी,“ दलीप ने अपनी बेटी से कहा |
“पापा , लो अब इसे चखो”, निशा ने अपनी ऊँगली को फिर से अपने पिता के होंठों पर रखते हुए कहा |
“आअहह्हहह.... बेटी, तुम्हारी ऊँगली से तो बहुत अच्छी गंध आ रही है, क्या लगाया है इसमें?” दलीप ने अपनी बेटी की ऊँगली से आती हुई खुशबु को सूंघते हुए अपनी सांसों को जोर से पीछे की तरफ खींचते हुए कहा और अपना मूंह खोलकर अपनी बेटी की ऊँगली को अपने मूंह में भरकर चाटने लगा |
दलीप को इस बार अपनी बेटी की ऊँगली का स्वाद इतना अच्छा लगा कि वो उसकी ऊँगली 
को बहुत देर तक अपने मूंह में भरकर चाटता रहा | 
“पापा कैसा था स्वाद?” निशा ने अपनी ऊँगली को अपने पिता के मूंह से निकालते हुए कहा |
“ओह्ह्ह...... बेटी, तुमने तो मुझे पागल बना दिया है , मगर बेटी सच बता यह किस चीज़ का स्वाद था” , दलीप ने अपने मुंह से अपनी बेटी की ऊँगली के निकलते ही बहुत जोर से सिसकते हुए कहा |

“पिता जी क्या आपको पता नहीं चला कि वो किस चीज़ का स्वाद था?” निशा ने निचे होते हुए अपने पापा के लंड पर अंडरवियर के ऊपर से ही अपने हाथों को फेरते हुए कहा |
“ओह्ह्हह्ह बेटी मुझे तो लगा कि वो तुम्हारी चूत का लज़ीज़ पानी था क्योंकि तुम्हारी ऊँगली बहुत ज्यादा नमकीन थी” , दलीप ने सिसकते हुए कहा |

"वाह पापा आपने तो सच में पहचान लिया”, निशा ने अपने पिता के अंडरवियर को उसकी टांगों से अलग करते हुए कहा |
“बेटी मैं इतना भी बुद्धू नहीं कि अपनी बेटी की चूत का इतना लज़ीज़ स्वाद भी ना पहचान सकूँ”, दलीप ने अपनी बेटी की बात सुनकर खुश होते हुए कहा |
निशा ने जैसे ही अपने पिता के अंडरवियर को उसकी टांगों से अलग किया | उसके पिता का लंड पूरी तरह तना हुआ नंगा होकर उसकी आँखों की सामने लहराने लगा |
-  - 
Reply
08-04-2018, 01:02 PM,
#6
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
“पापा आपका तो बहुत जोर से झटके खा रहा है“ निशा ने अपने पापा को गौर से देखते हुए कहा और अपना एक हाथ बढाकर अपने पापा के लंड को अपनी मुट्ठी में पकड लिया | 
“ओह्ह्हह्ह बेटी यह पगला तो तुम्हारी चूत को सर करने के ख्याल से ही कब से नाच रहा है”, दलीप ने जोर से सिसकते हुए कहा |
“अह्ह्ह्हह पापा आपका तो बहुत गर्म है” , निशा ने अपने पापा के लंड पर अपना हाथ आगे पीछे करते हुए कहा |
“ओह्ह्ह बेटी इसे सर से सहलाओ” , दलीप ने अपनी बेटी के नर्म हाथों को अपने लंड पर महसूस करते ही जोर से सिसकते हुए कहा |
निशा अब बहुत तेज़ी के साथ अपने पापा के लंड को अपनी मुट्ठी में भरकर आगे पीछे करने लगी | दलीप के मुंह से बहुत जोर की सिसकियाँ निकल रही थी | अचानक निशा ने थोडा निचे झुक कर अपने पिता के लंड को चूम लिया |
"आह्ह्हह्ह बेटी" निशा के ऐसा करने से दलीप के मुंह से जोर की सिसकी निकल गई और उसके लंड के छेद से प्रीकम की कुछ बूंदे निकलने लगी |
“पापा आपका पानी भी कुछ कम टेस्टी नहीं“ , निशा ने अपनी जीभ निकालकर अपने पापा के प्रीकम को चाटने के बाद कहा |

"ओह्ह्ह्ह बेटी प्लीज अपने पापा के लंड को अपने मुंह में लेकर प्यार करो ना” , दलीप ने जोर से सिसकते हुए कहा |

"हाँ पापा लेकिन सिर्फ मैं नहीं आप भी मुझसे प्यार करेंगे”, निशा ने कहा और वो उधर से उठते हुए अपने पापा के मुंह के पास आई |
“आहाहाहा बेटी इतनी अच्छी गंध कहाँ से आ रही है, ओह्ह्ह बेटी कहीं ये तुम्हारी चूत तो नहीं” , दलीप ने ख़ुशी से चिल्लाते हुए कहा | निशा ने अपने पिता को कोई जवाब दिए बगैर उसके लंड को अपने हाथ में पकड़कर चूमने लगी और अपनी चूत को पीछे धकेलते हुए अपने पिता के मुंह पर दबाने लगी |
निशा के ऐसा करने से उसकी चूत दलीप के होंठों पर दबने लगी | दलीप भी समझ गया कि यह उसकी बेटी की चूत है | इसीलिए वो निशा की चूत को अपने होंठों से चूमने लगा | दलीप ने थोड़ी देर तक अपनी बेटी की चूत को चूमने के बाद अपनी जीभ निकालकर उसकी चूत पर फिराते हुए उसके छेद में फेरने लगा |
निशा अपने पिता की जीभ को अपनी चूत पर महसूस करते ही जोर से सिसकते हुए अपनी चूत को उसकी जीभ पर दबाने लगी और मज़े से अपने पिता के लंड को अपने मूंह में डालकर चूसने लगी | अपना लंड अपनी बेटी के गर्म मुंह में जाते ही दलीप की भी हालत खराब होने लगी और वो अपनी जीभ को कड़ा करके तेज़ी के साथ अपनी बेटी की चूत में अन्दर बाहर करने लगा |

निशा की हालत भी अब बहुत खराब हो चुकी थी | उसे अपने पूरे जिस्म में अजीब किसम की सिहरन होने लगी थी और उसे अपने जिस्म में अजीब किसम की सिहरन होने लगी थी और उसका जिस्म बहुत जोर के झटके खा रहा था | निशा उत्तेजना में आ कर अपने पापा के लंड को बहुत जोर से चूसने लगी | इधर दलीप भी अपनी बेटी की चूत को बहुत तेज़ी के साथ अपनी जीभ से चोदने लगा |
निशा का जिस्म अचानक जोर से काम्पने लगा और उसकी चूत से पानी की नदियां बहने लगी | निशा ने झड़ते हुए मज़े से अपनी आँखें बंद कर ली और मज़े में आकर अपने पिता के लंड को पूरा अपने मुंह में लेकर जोर से चूसने लगी | दलीप अपनी बेटी की चूत का पानी चाटते हुए खुद भी अपना कण्ट्रोल खो बैठा और उसके लंड से भी वीरज की बारिश होने लगी |
दलीप का पूरा जिस्म झड़ते हुए जोर से कांप रहा था | निशा अचानक अपने पिता के लंड से गर्म वीरज को अपने मुंह में महसूस करके जितना हो सकता था चाटने लगी और बाकी का वीरज उसके होंठों से निकलकर निचे गिरने लगा | थोड़ी ही देर में दोनों बाप बेटी निढाल होकर अपने मुंह को एक दुसरे से अलग करके जोर से हांफ रहे थे |
“ओह्ह्ह्ह बेटी तुम बहुत अच्छी हो” , थोड़ी देर यूँ पड़े रहने के बाद दलीप ने निशा से कहा |
“पिता जी कैसा लगा अपनी बेटी का जूस”? निशा ने भी अब सीधा होकर अपने पिता की तरफ देखते हुए कहा |
“बेटी बहुत टेस्टी था , मगर अब तो मेरी आँखों से पट्टी हटाओ , मुझे अपनी बेटी का गोरा और चिकना जिस्म देखना है” , दलीप ने अपनी बेटी से मिन्नत करते हुए कहा |

“पापा इतनी भी जल्दी क्या है“?, निशा ने निचे होकर अपने पापा के सिकुड़े हुए लंड को अपनी मुट्ठी में भरते हुए कहा |
“बेटी मैं कोई जवान लड़का तो नहीं हूँ, इसीलिए अब मेरा लंड भी इतनी जल्दी नहीं उठेगा , इसीलिए कह रहा था कि मेरी आँखों से पट्टी हटा दो हो सकता है , हो सकता है तुम्हारा खुबसूरत जिस्म देखकर मेरा लंड जल्दी उठ जाए” , दलीप ने अपनी बेटी से कहा |
“ओह्ह्ह पापा आप बस देखते जाओ , यह कैसे थोड़ी देर में उछलता है”, निशा ने अपने पापा से कहा और निचे झुकते हुए अपने पिता के गीले लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी |
“आआहहह बेटी तुम तो जान ही लेकर रहोगी”, निशा की जीभ को अपने लंड पर महसूस करते ही दलीप ने जोर से सिसकते हुए कहा |
निशा अपने पिता की टांगों के बीच लेटकर उसके लंड पर अपनी जीभ फेरा रही थी |
निशा अपनी जीभ को अपने पापा के पूरे लंड पर फेरने के बाद नीचे होते हुए उसकी दो बड़ी बड़ी गोटियों पर फेरने लगी |



“अआहहाहाहा बेटी” निशा के ऐसा करने से दलीप को अपने पूरे जिस्म में मज़े का एक नया एहसास होने लगा और उसके लंड में फिर से जान आने लगी |
निशा ने जैसे ही देखा कि उसके पापा का लंड फिर से उठ रहा है तो उसने अपने एक हाथ से दलीप की गोटियों को सहलाते हुए अपनी जीभ को उसके चारों तरफ फेरने लगी | दलीप का लंड अब पूरी तरह तनकर झटके खाने लगा था और उसके मुंह से जोर की सिसकियाँ निकल रही थी |
निशा ने अब थोडा ऊपर होते हुए अपना मुंह खोल दिया और अपने पापा के लंड के सुपाडे को अपने होंठों के बीच लेकर चूसने लगी |

“ओह्ह्ह्ह बेटी और कितना तडपाओगी इसे अपनी चूत में ले लो”, दलीप ने बहुत जोर से सिसकते हुए कहा |
निशा ने अपने पिता की बात सुनकर उसके लंड को अपने मुंह से निकाला और अपनी दोनों टांगों को फैलाकर अपनी चूत को अपने पापा के लंड पर टिका दिया |
-  - 
Reply
08-04-2018, 01:02 PM,
#7
RE: Dost ke Papa Chudai निशा के पापा
दलीप ने जैसे ही अपने लंड पर अपनी बेटी की चूत को महसूस किया | उसने निचे से अपने चूतडों को एक धक्का मार दिया | मगर निशा ने अपने हाथ से दलीप के लंड को पकड लिया | जिस वजह से वो निशा की चूत में ना घुस पाया | निशा अपने पिता के लंड को अपने हाथ में पकडकर अपनी चूत के छेद पर घिसाने लगी | ऐसा करते हुए निशा के मुंह से जोर से सिसकियाँ निकल रही थी और उसकी चूत से ढेर सारा पानी निकल रहा था |
दलीप की हालत भी बहुत खराब हो चुकी थी | वो बहुत जोर से सिसकते हुए छटपटा रहा था | निशा खुद भी बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी | इसलिए उसने अपने हाथ को अपने पिता के लंड से हटा दिया और अपने पूरे वज़न के साथ अपने पिता के लंड पर बैठने लगी | निशा के ऐसा करने से दलीप का लंड उसकी बेटी की चूत में अपनी जगह बनता हुआ आधे से ज्यादा निशा की चूत में घुस गया |

“ओह्ह्ह बेटी आह्ह्ह क्या गर्म चूत है तुम्हारी , मुझे तो ऐसा लग रहा है जैसे मेरा लंड किसी आग की भट्ठी में चला गया है” , अपना आधे से ज्यादा लंड अपनी बेटी की चूत में घुसते ही दलीप ने जोर से चिल्लाते हुए कहा |
“आहह्ह्हह्ह पापा आपका लंड भी इतनी उम्र के बावजूद बहुत टाइट है” , निशा ने अपने चूतडों को थोडा ऊपर करके फिर से जोर लगाकर अपने पापा के लंड पर बैठते हुए कहा |
निशा के ऐसा करने से उसके पापा का पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया | निशा अपने पापा का पूरा लंड अपनी चूत में घुसने के बाद बहुत जोर से दलीप के लंड पर उछलने लगी | अपने पापा के लंड पर उछलते हुए निशा के मुंह से बहुत जोर की सिसकियाँ निकल रही थी |

“ओह्ह्ह्ह बेटी ऐसे ही बहुत मज़ा आ रहा है , आज तुमने मुझे वो मज़ा दिया है जिसकी मैं कल्पना भी नहीं कर सकता था” , दलीप ने अपने लंड को अपनी बेटी की टाइट गर्म चूत में अन्दर बाहर होता महसूस करके जोर से सिसकते हुए कहा |
“आह्ह्ह्ह पापा ..... मुझे भी यह पता नहीं था कि अपने पापा से चुद्वाते हुए ..... मुझे इतना ज्यादा मज़ा आएगा वरना ...............मैं सब से पहले आपसे ही चुद्वाती”, निशा ने भी अपने पापा के लंड पर जोर से उछलते हुए कहा |
“ओह्ह्ह्हह्ह मेरी प्यारी बेटी मुझे नहीं पता था कि तुम मुझसे इतना प्यार करती हो बेटी, अब तो मेरी बाँहों को खोल दो” , दलीप ने सिसकते हुए अपनी बेटी से कहा |
“आअहह्ह्ह्ह पापा मैं तुम्हारी बाँहों को एक शर्त पर खोलूंगी , आप अपनी आँखों की पट्टी नही खोलोगे” , निशा ने नीचे झुकते हुए अपने पिता से कहा | निशा के निचे झुकने से उसकी दोनों चूचियां उसके पापा के मुंह के पास हो गईं |




“ठीक है बेटी जैसा तुम कहोगी मैं वैसे ही करूँगा” , दलीप ने कहा और अपनी बेटी की एक चूची को अपनी जीभ से चाटने लगा |

निशा ने अपने पापा की बात सुनकर उसके दोनों बाजुओं से कपडे को खोल दिया और खुद ऊपर उठने लगी | दलीप ने अपने हाथों के खुलते ही अपनी बेटी को कमर से पकड कर निचे झुका दिया और उसकी एक चूची को अपने मुंह में लेकर चूसते हुए अपने चूतडों को बहुत जोर से उछालते हुए अपना लंड अपनी बेटी की चूत में अन्दर बाहर करने लगा |

“आआहहह्ह पापा ऐसे ही, और तेज़ ओह्ह्ह बहुत मज़ा आ रहा है” , अपने पिता के लंड को अपनी चूत में तूफानी राफ्तार से अंदर बाहर महसूस होता देखकर निशा ने जोर से सिसकते हुए कहा | निशा को इतना ज्यादा मज़ा आ रहा था कि वो अपने दोनों हाथों से अपने पिता के सर को पकड़कर सहलाते हुए अपनी चुचियों को उसके मुंह में दबाने लगी |

“आअहह्हह बेटी अब बहुत हो चूका , मैं अब ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता” , दलीप ने इतना कहा और अपने हाथों को निशा की कमर से अलग करते हुए अपनी आँखों की पट्टी को खोल दिया |
“नहीं पापा” , निशा अचानक अपने पापा की इस हरकत से घबरा गयी और सीधा होते हुए अपने हाथों से अपनी चुचियों को ढकने लगी |
“ओह्ह्ह मेरी प्यारी बेटी , अब क्यों इतना शर्मा रही हो , मैं तो कब से अपनी बेटी का मखमली बदन देखना चाहता था”, दलीप ने अपनी बेटी के हाथों को उसकी चुचियों से अलग करते हुए कहा |
"पापा आपने यह ठीक नहीं किया“ , निशा ने शर्म से अपनी आँखों को बंद करते हुए कहा |
“ओह्ह्ह्ह बेटी तुम क्या जानो , इतनी देर से मैं अपनी प्यारी बेटी के इतने सुन्दर जिस्म को ना देखकर कितना तडप रहा था”, दलीप ने अपनी बेटी को निचे झुकाते हुए कहा | दलीप ने अपनी बेटी के निचे होते ही उसके होंठों को अपने होंठों पर रख कर चूमते हुए निचे से अपने चूतडों को उछालते हुए अपने लंड को निशा की चूत में अन्दर बाहर करने लगा |

दलीप अपनी बेटी को बहुत तेज़ी के साथ चोदते हुए उसके दोनों होठों को अपने मुंह में बारी बारी भरकर चाट रहा था | अचानक निशा ने गर्म होते हुए अपनी जीभ को अपने पापा के मुंह में डाल दिया | दलीप अपनी बेटी की जीभ को अपने मुंह में महसूस करते ही पागल हो गया और उसने अपनी बेटी को कमर से पकड कर सीधा करते हुए खुद उसके ऊपर आ गया |
दलीप अपनी बेटी की जीभ चाटते हुए अपने लंड को बहुत तेज़ी के साथ उसकी चूत में अन्दर बाहर करने लगा | निशा का मज़े के मारे बुरा हाल था | वो मज़े से हवा में उड़ रही थी | उसकी सांसें फूलने लगी थी | निशा ने अचानक अपनी जीभ को अपने पापा के मुंह से निकाल दिया और अपने मुंह को दलीप के मुंह से अलग करते हुए जोर से हांफने लगी |
दलीप अब अपनी बेटी की टांगो के बीच खड़ा होकर बैठ गया और निशा की टांगों को उठाकर उसके पेट पर रखते हुए उसको चोदने लगा |

“ओह्ह्ह बेटी क्या प्यारी और सुंदर चूत है तुम्हारी”, दलीप ने अपनी बेटी की चूत को पहली बार देखते ही जोश में आकर उसकी चूत में जोर से धक्के मारते हुए कहा |
“अआहह्ह्ह पापा आपका तो और ज्यादा टाइट और मोटा होता जा रहा है , ओह्ह्ह ऐसे ही जोर से, मैं झड़ने वाली हूँ”, निशा ने जोर से चिल्लाते हुए अपने चूतडों को ऊपर उछालते हुए कहा | वो अपने पापा के लंड को अपनी चूत में ज्यादा टाइट और मोटा होता हुआ महसूस कर रही थी | इसकी वजह से उसका सारा जिस्म अब अकड़ने लगा था और वो झड़ने के बिलकुल करीब पहूँच चुकी थी |
“अह्ह्ह्ह बेटी यह तुम्हारे जिस्म का ही कमाल है जो इसे देख कर मेरा यह बुढा लंड भी आज जवान होकर तुम्हें चोद रहा है” , दलीप ने अपनी बेटी की बात सुनकर उसे टांगों से पकडते हुए बहुत जोर के साथ उसकी चूत में अपना लंड अंदर बाहर करते हुए कहा |
“अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह पापा इस्स्स्सस्स्स मैं आ रही हूँ” , अचानक निशा का पूर जिस्म कांपने लगा और उसकी चूत झटके खाते हुए अपना पानी छोड़ने लगी | निशा की चूत झड़ते हुए अपने पापा के लंड पर जोर से सिकुड़ गयी जिस वजह से दलीप भी झड़ने के करीब पहुच गया था |
निशा अपनी आंखें बंद किए हुए मज़े से अपने चूतडों को उठाकर अपने पापा के लंड को अपनी चूत में लेते हुए झड़ने का मज़ा ले रही थी |
“ओह्ह्ह्हह्ह बेटी मैं भी आने वाला हूँ , कहाँ पर झडूं ?” दलीप ने भी जोर से सिसकते हुए अपनी बेटी से कहा |
“पापा मेरी चूत में , आज भर दो अपनी बेटी की चूत को अपने गाढे वीरज से , ताकि इसकी आग कम हो सके” , निशा ने अपने पापा की बात का जवाब देते हुए कहा |
“आअहाआ बेटी ले अपने पापा के वीरज को अपनी चूत में महसूस करो”, दलीप अपनी बेटी की बात सुनकर तेज़ी से उसकी चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करते हुए जोर से हाँफते हुए झड़ने लगा |
“ओह्ह्ह्ह पापा बहुत गर्म वीरज है आपका इश्ह्हह्ह्ह” , निशा भी अपने पापा का गर्म वीरज अपनी चूत में गिरते ही जोर से सिसकने लगी |


दलीप पूरी तरह झड़ने के बाद अपनी बेटी के ऊपर ही निढाल होकर ढेर हो गया और उसका लंड सिकुड़कर निशा की चूत से निकल गया | निशा की चूत से उसके पापा का लंड निकलते ही उसकी चूत से वीरज निकलकर बेड पर गिरने लगा |
“ओह्ह्ह्ह आई लव यू पापा“, निशा ने अपने पिता को जोर से अपनी बाहों में भर लिया और उसके होंठों को चूमने लगी |
“ओह्ह्ह्ह बेटी आज मुझे जो मज़ा तुमने दिया है , उसका एहसान मैं कभी नहीं भुला सकता” , दलीप ने अपनी बेटी के होंठों को चूमने के बाद उसकी साइड में लेटते हुए कहा और अपनी बेटी की गोरी चुचियों से खेलने लगा |
“आआहाह पापा इसमें एहसान की क्या बात है , मैं आपकी ही बेटी हूँ और मैं आपकी मेहनत से ही पैदा हुई हूँ , इसलिए मुझपर सबसे ज्यादा हक आपका ही है”, निशा ने अपने पापा के बालों में हाथ डालकर उसके मुंह को अपनी चुचियों पर दबाते हुए कहा |
निशा के ऐसा करने से दलीप का मुंह उसकी बेटी की दोनों चुचियों के बीच आ गया | दलीप भी अपनी बेटी की दोनों चुचियों को अपने दोनों हाथों में थामकर जोर से दबाते हुए उन्हें चूमने और चाटने लगा | दोनों बाप बेटी कुछ देर तक ऐसे ही मस्ती करते रहे और कुछ देर बाद निशा अपने पापा से अलग होते हुए बाथरूम जाने लगी |
निशा बिलकुल नंगी ही वहां से उठकर बाथरूम जा रही थी | निशा के बाथरूम जाते हुए दलीप की नज़रें अपनी बेटी के नंगे जिस्म को घुर रही थी |
निशा के बाथरूम घुसने के बाद दलीप भी बेड से उठते हुए अपनी बेटी के पास बाथरूम जाने लगा |
दलीप अपनी बेटी के बाथरूम जाने के बाद खुद भी उसके पीछे बाथरूम में घुस गया | निशा बाथरूम में निचे बैठकर पेशाब कर रही थी | “पापा आप यहाँ? कुछ तो शर्म कीजिये” , निशा ने अचानक अपने पापा को नंगा ही बाथरूम में दाखिल होता देखकर गुस्से से कहा |
“अरे बेटी अब तुमसे क्या शर्म? मैं तो बस अपनी बेटी के साथ नहाना चाहता हूँ” , दलीप ने बाथरूम में अन्दर आकर शावर को ओन करते हुए कहा |
"पापा मुझे शर्म आ रही है , मैं आपके साथ नहीं नहा पाऊँगी , मैं जा रही हूँ”, निशा ने पेशाब करने के बाद अपने पापा से कहा और उठकर वहां से जाने लगी |
“बेटी क्यों इतना शर्मा रही हो , बस कुछ ही देर की तो बात है”? दलीप ने अपनी बेटी को कलाई से पकड़कर अपने साथ शावर के निचे खड़ा करते हुए कहा | 
“निशा ने भी अब कोई विरोध नहीं किया और शावर के पानी से अपने पिता के साथ नहाने लगी | दलीप ने नहाते हुए साबुन उठा लिया और अपनी बेटी की पीठ पर मलने लगा | दलीप साबुन को निशा की चिकनी पीठ पर मलते हुए निचे होते हुए उसके दोनों चूतडों तक आ गया और अपनी बेटी के दोनों नर्म चूतडों पर साबुन को मलते हुए उन्हें अपने दुसरे हाथ से दबाने लगा |
“अआहाहह्ह्ह पापा क्या कर रहे हो, बस साबुन लगा लिया ना” , निशा ने सिसकते हुए कहा |

“बेटी थोडा झुक जाओ , तुम्हारा हाथ इधर नहीं पहुच पाता, इस लिए यहाँ पर थोड़ी गंदगी है , मैं इसे साफ कर देता हूँ” , दलीप ने अपनी ऊँगली को निशा के चूतडों के बीच फेरते हुए कहा |
“ओह्ह्हह्ह्ह्ह पापा” निशा ने थोडा झुकते हुए सिसककर कहा | दलीप अब साबुन को अपनी बेटी की गांड के छेद से निचे लेजाकर उसकी चूत तक मलने लगा | दलीप के ऐसा करने से निशा के मुंह से जोर की सिसकियाँ निकल रही थी | दलीप थोड़ी देर तक अपनी बेटी के चूतडों को सही तरीके से साफ करने के बाद उठकर खड़ा हो गया |
दलीप अब साबुन को अपनी बेटी की दोनों बड़ी बड़ी गोरी चुचियों पर मलने लगा | दलीप साबुन को अपनी बेटी की चुचियों पर मलते हुए उन्हें अपने हाथ से भी दबा रहा था |
“आह्ह्ह्हह्ह पापा क्या कर रहें हैं आप ?” दलीप का ऐसा करने से निशा के मुंह से बहुत जोर की सिसकियाँ निकल रही थी | दलीप अब साबुन को निशा के चिकने गोरे पेट पर मलते हुए निचे ले जाने लगा |
दलीप का हाथ अब उसकी बेटी की चूत की हलकी झांटों तक आ गया था | निशा ने मज़े के मारे अपनी आँखें बंद कर ली थी | वो अपने पिता की हरकतों से बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी | दलीप अब साबुन को अपनी बेटी की चूत पे मल रहा था और निशा मज़े से सिसक रही थी |
दलीप ने कुछ देर तक अपनी बेटी की चूत को साबुन से साफ़ करने के बाद साबुन को निचे रख दिया और निशा की चूत को गोर से देखते हुए अपने होंठों को उसकी चूत पर रख दिया |

“ओह्ह्हह्ह्ह्ह पापा क्या कर दिया आपने” , अपने पापा के होंठों को अचानक अपनी चूत पर महसूस करते ही निशा ने जोर से सिसकते हुए कहा |
दलीप अपनी बेटी को कोई जवाब दिए बगैर उसकी चूत को चूमते और चाटते हुए उसकी चूत पर गिरता हुआ पानी भी चाटने लगा | निशा की हालत बहुत खराब हो चुकी थी | उसका पूरा बदन तप कर आग बन चूका था | दलीप ने अचानक अपनी एक ऊँगली को अपनी बेटी की चूत के छेद में डालते हुए उसकी चूत के दाने को अपने मुंह में ले लिया और उसे बहुत जोर से चूसने लगा |
निशा अपने पिता की यह हरकत बर्दाश्त न कर सकी और उसका पूरा जिस्म कांपने लगा |
“आहाह्ह्ह्हह इश..... पापा ओह्ह्ह्ह” , निशा ने जोर से सिसकते हुए अपने पापा को बालों से पकड़कर अपनी चूत पर दबा दिया और उसकी चूत झटके खाते हुए पानी छोड़ने लगी | दलीप अपनी बेटी की चूत का रस शावर के गिरते हुए पानी के साथ चाटने लगा |

निशा कुछ देर तक यूँ ही अपनी आँखें बंद करके झड़ने लगी |
“बेटी क्या हुआ, मज़ा आया?” कुछ देर बाद जब निशा ने अपनी आखें खोली तो दलीप ने उठकर उसके सामने खड़ा होते हुए पूछा | 

"पापा ...." निशा ने अपने पापा को अपनी बाँहों में भर लिया और दोनों बाप बेटी एक दुसरे के होंठों को चूमने लगे | कुछ देर तक ऐसे ही एक दुसरे के होंठों से खेलने के बाद दोनों फ्रेश होकर बाथरूम से निकल गए | 

निशा ने बाहर आते ही अपने कपडे पहने और अपने पिता के कमरे से निकलकर अपने कमरे की तरफ चल दी |
|||||समाप्त||||||
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Kamukta Story प्यास बुझाई नौकर से desiaks 79 31,583 01-07-2021, 01:28 PM
Last Post: desiaks
Star XXX Kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार desiaks 93 36,757 01-02-2021, 01:38 PM
Last Post: desiaks
Lightbulb Mastaram Stories पिशाच की वापसी desiaks 15 13,114 12-31-2020, 12:50 PM
Last Post: desiaks
Star hot Sex Kahani वर्दी वाला गुण्डा desiaks 80 24,300 12-31-2020, 12:31 PM
Last Post: desiaks
Star Antarvasna xi - झूठी शादी और सच्ची हवस desiaks 49 68,250 12-30-2020, 05:16 PM
Last Post: lakhvir73
Star Porn Kahani हसीन गुनाह की लज्जत sexstories 26 100,379 12-25-2020, 03:02 PM
Last Post: jaya
Star Free Sex Kahani लंड के कारनामे - फॅमिली सागा desiaks 166 210,614 12-24-2020, 12:18 AM
Last Post: Romanreign1
Thumbs Up Hindi Sex Stories याराना desiaks 80 77,020 12-16-2020, 01:31 PM
Last Post: desiaks
Star Bhai Bahan XXX भाई की जवानी desiaks 61 158,903 12-09-2020, 12:41 PM
Last Post: desiaks
Star Gandi Sex kahani दस जनवरी की रात desiaks 61 48,800 12-09-2020, 12:29 PM
Last Post: desiaks



Users browsing this thread: 2 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


rhea chakraborty nudedesibees picsindian sex stories in hindihindi sex storyrimi sen nude picsshraddha kapoor fuckingxossip stories hindimaa ke sath sambhoganjali naked photopriya anand xossipnangi photo indianभाभी आपको छोड़ने का मन ही नहीं कर रहाsex of shruti hassanउसे सू सू नहीं लंड बोलते है बुद्धूnia sharma nude picsantarvasna 2आप मेरी दीदी तो नहीं हो नाsoha ali khan nude photomaa beta beti sex storyjanvi chheda nudehollywood heroine sex imagekiran rathod nudehindu muslim sex storyचुदासीhindi nude imageparineeti chopra hot nudenon veg kahanipranitha sex storiesमेरी पैंट के ऊपर से लंड को सहलाने लगीdriver se chudwayakajal agarwal sex stories xossipraj sharma ki kamukभाभीजान को जोर से एक चुम्मीbangladesh naked photospecial sex storymadhuri dixit sex storiesmeri sexy chudaivelamma episode 88avika gor new nude imagesye to fuck ho gayakannada kaama kathegalumeharin nudetelugu journey sex storiesamy jackson x videosrajsharma sex storyneha boobsdeepika padukone nangi imagenude of kareena kapoorvasna sex storyindian nanga photoमेरे राजा...मैं वासना में पागल हुई जा रही थीnaked tv actressrajsharma sex storyranku kathaludeepshikha nudepriyanka jawalkar nudenikitha nude photossakshi tanwar sexheroine sex storieskeerthi suresh fakessharmila tagore nakedmuskurate hue boli kitna sharmata hai. shaadi ho jayegi to kya karegasouth indian actress nude picsholi mai chudaibhanu sree nudeshirley setia nudesshriya saran nudeshilpa shetty sex photo comमस्त कहानियाdivyanka tripathi ki nangi photouncle neanushka sharma nudemehreen pirzada nudeneha sharma nudeshilpa shetty nudepriya anand sex photosभाभी आपको छोड़ने का मन ही नहीं कर रहाpooja bose nudelavanya tripathi nudeyami gautam sex storysex heroin imageanjali hot sexkirthi suresh sexladki ki chudai ki kahaniindian nanga photokriti sanon nudemausi ki betishraddha kapoor nude gif